माँ ने गैर मर्द से चुदवाया



Click to Download this video!

loading...

हेलो फ्रेंड्स में विक्की आज में आप सभी को एक कहानी सुनाने जा रहा हूँ Hindi Sex Stories Antarvasna Kamukta Sex Kahani Indian Sex Chudai इस कहानी मे होली के अवसर पर मेरी मम्मी की चुदाई हुई। अब में आपको आगे की कहानी बताता हूँ। दोस्तों में 12th क्लास में पढ़ता हूँ और मेरी उम्र 18 साल की है। मेरे मम्मी-पापा मुंबई में रहते है। मेरी मम्मी दिखने में बहुत ही अच्छी है, मतलब बहुत ही सेक्सी है। उनकी उम्र 38 साल की है। उनका फिगर 32-29-36 है और बहुत ही अच्छा है। अब में आपको अपनी स्टोरी पर ले जाता हूँ। दोस्तों आज से दो महीने पहले की बात है। होली का समय था। मेरी दादी ने कॉल किया और उन्होंने कहा कि इस बार तुम सब होली पर गाँव आ जाओ तभी मम्मी ने कहा ठीक है। फिर जब पापा शाम को घर आए तो मम्मी ने पापा से कहा कि दादी का कॉल आया था। उन्होंने हम सब को गाँव बुलाया है।

पापा ने कहा कि वो नहीं जा पाएँगे, उनको ऑफीस के काम से बाहर जाना है। तभी मम्मी गुस्सा हो गई, उन्होंने कहा ठीक है आप मना कर दो फोन पर, में मना नहीं कर सकती। पापा ने कहा ठीक है में मना कर दूँगा। फिर उन्होंने दादी को कॉल किया और कहा कि हम लोग गाँव नहीं आ सकते। तभी दादी ने कहा कि ठीक है, कम से कम मेरी बहू और मेरे पोते को तो तुम गाँव भेज दो, पापा ने कहा ठीक है। फिर पापा ने मम्मी से कहा कि तुम विक्की को लेकर गाँव चली जाओ, में नहीं जा सकता। मम्मी ने कहा ठीक है। फिर पापा ने हमारा ट्रेन से रिज़र्वेशन करा दिया और हम गाँव पहुंच गये। वहाँ पर हमारा स्वागत हुआ हम दिन के 11 बजे गाँव पहुंच गये थे। फिर हम घर पर पहुंच कर खाना खाकर सो गये।

फिर शाम को जब हम उठे तो देखा कि हमारे घर के बगल में एक चाचा रहते है, उनका नाम सीबू था। वो आए हुए थे। में और मम्मी बैठ कर चाचा से बात करने लगे, बातों बातों में चाचा ने मम्मी से कहा कि भाभी बिलकुल सही समय पर आई हो, मम्मी ने कहा क्या मतलब? सीबू चाचा ने कहा देवर के लिए इससे अच्छी बात क्या हो सकती है कि उसकी भाभी होली पर आई हो, इस बार तो मज़ा आएगा। ये कह कर चाचा हँसने लगे और मेरी मम्मी भी उन्हे देख कर थोड़ा सा शरमा गई।

अब अगले दिन होली थी। सुबह से ही सारे लोग होली खेलने मिलने जुलने आये हुए थे। दिन के 12 बज चुके थे, मम्मी ने मुझसे कहा कि में नहाने जा रही हूँ। तभी मैंने कहा कि ठीक है। मम्मी आप नहा कर आ जाईये फिर मैं नहा लूँगा, मम्मी ने कहा ठीक है। ये कहकर मेरी मम्मी नहाने चली गई। में बाहर खेलने लगा, तभी मैंने देखा कि सीबू चाचा आए हुए है। फिर उन्होंने मुझसे पूछा कि बेटा तुम्हारी मम्मी कहाँ है? मैंने कहा कि मम्मी बाथरूम मे नहाने चली गई है। चाचा ने कहा कि ठीक है। हमारे गाँव में जो हमारा बाथरूम था, वो थोड़ी सी दूरी पर था और उसमें गेट भी कोई खास नहीं था। उसमें से सब कुछ साफ़ दिखता था। घर की सभी औरतें उसी बाथरूम मे जाकर नहाती थी। फिर चाचा मम्मी को रंग लगाने के लिए बाथरूम की तरफ चले गये। में भी उनके पीछे पीछे चला गया, तभी मैंने देखा कि मेरी मम्मी वहाँ पर नहा रही थी और अपने शरीर पर साबुन लगा रही थी।

फिर चाचा वहीँ पर चुपके से खड़े होकर मम्मी को नहाते हुए देखा रहे थे। मम्मी को ये बात पता नहीं थी। वो आराम से साबुन अपने शरीर पर लगा रही थी। स्थिति कुछ ऐसी थी कि मम्मी ने अपने पेटीकोट का नाडा अपने बूब्स से बाँध रखा था और उनका पूरा शरीर पानी से भीगा हुआ था और उन्होंने अपने पेटीकोट को अपनी जांघ तक उठा रखा था और वो बस साबुन मल रही थी। तभी मैंने चाचा की तरफ देखा। वो मम्मी को बहुत ही गंदी नज़र से देख रहे थे। फिर चाचा बाथरूम मे अंदर गये। उन्होंने मम्मी को पीछे से पकड़ लिया, चाचा के अचानक इस तरह से पकड़ने से मम्मी घबरा गई। चाचा ने कहा भाभी मुझसे रंग नहीं लगवाओगी क्या? मम्मी ने कहा मैंने रंग साफ कर लिया है, अब नहीं चाचा ने कहा, ऐसे कैसे भाभी आज तो होली है, बिना रंग के कैसे मज़ा आएगा। उन्होंने मेरी मम्मी को कसकर अपनी बांहों मे जकड़ रखा था और मम्मी के मना करने के बावजूद वो मम्मी को रंग लगाने लगे। चाचा मम्मी के पेटीकोट को धीरे धीरे ऊपर करते हुए, उनकी जांघों मे रंग लगा रहे थे।

तभी मम्मी ने कहा कि प्लीज बस करो अब तो रंग लगा लिया ना, अब रहने दो, फिर चाचा हँसने लगे। उन्होंने कहा अभी कहाँ भाभी अभी तो में आपके पूरे शरीर में रंग लगाऊंगा, ये कहते हुए चाचा ने मेरी मम्मी के पेटीकोट को पूरा पेट तक उठा दिया। शायद चाचा को भी ये पता नहीं था कि मेरी मम्मी ने पेंटी नहीं पहनी हुई है। अब चाचा ने मेरी मम्मी के पेटीकोट को उनके बूब्स तक चड़ा दिया और मम्मी के पूरे शरीर में रंग लगाने लगे। उनका हाथ मेरी मम्मी की गोरी गोरी जांघो को छू रहा था। मम्मी अपने हाथों से अपनी चूत छुपाने की कोशिश कर रही थी, लेकिन चाचा के सामने उनकी एक ना चली।

फिर मम्मी ने कहा नहीं नहीं प्लीज इसमें मत लगाओ, चाचा ने कहा अरे कुछ नहीं होगा भाभी लगाने दो प्लीज़, ये कह कर चाचा ने मम्मी का हाथ हटा दिया। मैंने देखा कि मम्मी की चूत पर पूरे झांट के बाल थे। तभी चाचा ने अपने हाथ में रंग भरा और अपना हाथ अंदर ले जाते हुए मेरी मम्मी की चूत में रगड़ने लगे। पहले कुछ देर तक मेरी मम्मी नॉर्मल मज़ाक में सब लेती रही क्योंकि गाँव में ऐसा ही होता है। लेकिन मैंने देखा कि मम्मी को अब बहुत मज़ा आने लगा। चाचा ने सोचा अच्छा मौका है और ये सोचकर उन्होंने अपनी दो उंगली मेरी मम्मी की चूत में घुसा दी, फिर मम्मी ने कहा अब रहने दो, चाचा ने पूछा कि क्या मज़ा नहीं आ रहा? मम्मी ने सर हिलाते हुए कहा हाँ फिर क्या था चाचा को हरी झंडी मिल गई। फिर चाचा अपनी उंगली मेरी मम्मी की चूत के अंदर बाहर करने लगे। कभी अपना हाथ बाहर निकाल कर मेरी मम्मी के पेट पर रगड़ते तो कभी पीछे ले जाकर उनकी गांड को मसलते। फिर कुछ देर तक ऐसा ही चलता रहा। थोड़ी देर बाद किसी के आने की आहट आई, तभी चाचा वहाँ से हट गये और वहाँ से चले गये।

मम्मी फिर से नहाने लगी फिर में भी वहाँ से चला गया। थोड़ी देर बाद मम्मी नहाकर घर में आ गई। मैंने मम्मी की तरफ देखा एक अजीब सी ख़ुशी देखी उनकी आँखो में, फिर हमने साथ मे बैठकर खाना खाया और में सोने चला गया, फिर शाम को जब मेरी आँखे खुली तो मैंने मम्मी की आवाज़ सुनी जो पास के कमरे से आ रही थी। तभी में ये देखने चला गया कि मम्मी किससे बात कर रही है। जब मैंने देखा तो पाया कि सीबू चाचा बैठे हुए है और वो मम्मी से कह रहे थे कि भाभी आज मेरे यहाँ पर चलो प्लीज, मम्मी उनसे मना कर रही थी और कहने लगी कि नहीं माँजी घर में है नहीं हो पाएगा। मुझे कुछ समझ मे नहीं आ रहा था। फिर चाचा ने कहा कि आप टेंशन मत लो में काकी (मेरी दादी) को में मना लूँगा, ये कहकर चाचा दादी के पास चले गये।

फिर उन्होंने कहा कि काकी में भाभी को गाँव घूमाने ले जा रहा हूँ, आपको कोई दिक्कत तो नहीं। दादी को चाचा की नियत के बारे में पता नहीं था इसलिए उन्होंने भी हाँ कर दी। फिर थोड़ी देर बाद मम्मी रेडी हो गई, उन्होंने मुझसे कहा कि बेटा में चाचा जी के साथ घूमने जा रही हूँ, तुम दादी के पास ही रहना। में समझ गया कि आज ये लोग क्या करेंगे फिर मेरी मम्मी चाचा के साथ चली गई। में भी थोड़ी देर बाद दादी से खेलने का बहाना करके चाचा के घर पर चला गया, तभी मैंने देखा कि चाचा के घर का गेट बंद था, इसलिए में पीछे की खिड़की पर चला गया और वहाँ से अंदर की तरफ देखने लगा। मम्मी और चाचा बेड पर बैठे हुए थे और चाचा ने मेरी मम्मी को अपनी बाँहों में ले रखा था और दोनों लिप किस कर रहे थे। चाचा मेरी मम्मी के गुलाबी होठों को चूस रहे थे। कभी ऊपर की लिप को चूसते तो कभी नीचे के लिप को, मम्मी ने अपने हाथ पीछे ले जाकर चाचा की गर्दन को पकड़ रखा था और उनका पूरा पूरा साथ दे रही थी उनके होंठ चूसने की आवाज़ मेरे कानो तक आ रही थी।

अब मम्मी ने अपना हाथ चाचा की पेंट में डाल दिया, चाचा ने कहा अरे भाभी रुक जाओ इतनी जल्दी क्या है? ये कहकर चाचा ने अपनी पेंट खोलकर अपनी जांघो तक कर दी, चाचा का लंड पूरा मुरझाया हुआ था और बिल्कुल काला था। मेरी मम्मी ने अपने हाथों से चाचा के लंड को सहलाया, उधर चाचा मेरी मम्मी को चूमे जा रहे थे। थोड़ी देर बाद चाचा ने मेरी मम्मी का ब्लाउज का हुक खोल दिया और मेरी मम्मी के गोल गोल बूब्स को ब्रा के ऊपर से चूमने लगे। चाचा कभी मेरी मम्मी की छाती को चूमते, तो कभी मेरी मम्मी के बूब्स पर किस कर रहे थे। अब चाचा ने अपने सारे कपड़े खोल लिए। उन्होंने मेरी मम्मी को अपने बेड पर लिटा दिया। चाचा मेरी मम्मी के पेरों के पास आकर बैठ गये, उन्होंने मेरी मम्मी के एक पैर को उठा लिया और उनके तलवे पर किस करने लगे।



loading...

और कहानिया

loading...


Online porn video at mobile phone


सादी मै चोदाxxxHDxxx.sexmasajh.beti.kianty sexy storyरात को बिना पैंटी क स्कर्ट में लुंड घुसा जानबूझ करgaram,nangi,Chudasi,kamuk.....Bhabi,biwihindi jija sali chutरिश्ते की भोसडा चोदाpussy dikhakar chudaiki sex khaniristo me samuhik chudai kahaniChhata behan. हिंदी सेक्स स्टोरीxxx.babi.ke.chodi.kahanibhai bhen ki cudai bapne dekhneki x videos comXXX RAJSTHAN KHANI HINDIमाँ के साथ सो कर मज़े लये मेरी सचि कहाणीआ क्सक्सक्सbhai ki dawani behan incest sexy storixexy storydidi.ke.samuhik.cudi.ke.hinde.khanechudai me jor jor se rone lagi atrvanaसेक्सी चुत चुदाई नगी भगी करकेसुशमा कि चुदाई आँगन मेmumbi rich aunty sex in hotleचूत चोदई वीडयो मजा लेते हुए shadi sudha dide ko choda seduk karke khet me sex hindhi storiदीदी को chodaतेल लगा के khati में हिंदी स्टोरीcudaidubaiantarvasana badi bahen ko nangi dekhapyassibhabhi.com sex samacharhindi sex stories/chudayiki sex kahaniya. kamukta com. antarvasna com/tag/page no 55--89--211--320xxx kahanireal chug kahnixxx kam kahani photos hindisexy full bivi xxx stori hidi chudakkan waifSAKAX KAHANEYAbibi ke sath group chudai ka plan banaya chudai storymaa our Muslim auncal ki chudai bus me dekhi hindi sex kahaniya. comxnx antharwasana sex kahanekahani chachi ki chudaix kamukta.comhindi sex stories/chudayiki sex kahaniya. kamukta com. antarvasna com/tag/page no 55--89--211--320ghodi banakar mota lund jabrjasti xxxHindi bhai bhahanSex storieshindi ses kahaniमामा ने दुध पियाक्सक्सक्स की कहानियां इन हिंदी में म्प४ वीडियोGAON MAIN RISTON MAIN CUDAI KI LAMBI KAHANIsleep sax hindi story kamutaxnxxcom meba chachi ke chodai kiरिश्तों में चुदाईgoogle.marisaci.kahaniy.hindiदीदी कि चुद्दकड चुतshadi मुझे माँ की चुदाई सेक्स कहानी हिंदीmuslim chache ke gand marwane ki gande vedio and photorep nokrani sexe khaniXNXX BABE KA HENDI ME KAHANEmajboor bhabi fucl pagebhai ne maa aur bahan ko choda hindi kamukta.comबीबी अदला बदली bf डाउनलोड हिंदीwww xxx kahaniya comkamuktaप्रिया की सील बंद चुत की स्टोरी हिंदी मकुत्ते की चुदाई देख पड़ोसन गर्म हुईnanad ki suhag raat xossip.commaa ki chut fati kahani Hindi maimamme ki tren me codsi kahani hindibhibhai devai xxxor chudaiमोती budiya माँ बीटा चुदाईbhabhi panikahani.comsax khani photo ke sathचुदाई की कहानी हम दो सहेलियों कीxxx chodene ma baladnikla video.comक्सक्सक्स क सेक्सीय विडिओस सैलून लोड कमxossip incest maa ka rape dost ne kiyakamukta maa gangbang principalkenarr k sath khet me xxx full storyHINDISEXSTORYCHUDAIsax khani photo ke sathrani dot com pur khat ma chudai ke hindi kahaneidoctar xxx bhabe cenekसेक्स कहानियाँ माँ ने घर में करवाया अनजाने मेंपुष्पा मम्मी की दोस्तों से सेक्स रोमांस सभी कहानियोंfreind ne bola mumy ki bur ko lund.storyमोटी औरत टोर्च वाला XXXdesalt ki ki Pahli chudai chut walixxx dadaki khanilidesh condom deya chuda banglaसपना दीदी की ग्रुप चुदाई हिंदी स्टोरीIndan randi sex चुदाई रेटbua kee bheed main chudae sex story